Wednesday, September 24, 2008

सुनिए 'मुगलों ने सल्तनत बख़्श दी'



भगवती चरण वर्मा की प्रसिद्ध कहानी का पॉडकास्ट

आज हम लेकर आए हैं भगवती चरण वर्मा जी की एक सुंदर कहानी 'मुग़लों ने सल्तनत बख़्श दी'। यह एक व्यंग्य
हैं, जिसमें लेखक ने अंग्रेजों द्वारा भारत पर धीरे -धीरे कब्जा कर लेने की घटना को बड़े ही रोचक रूप मैं प्रस्तुत किया है। इसमें तत्कालीन मुग़ल साम्राज्य मैं व्याप्त राग, रंग और अकर्मण्यता पर करारी चोट की है। सुनिए शोभा महेन्द्रू की आवाज़ में, और आनंद लीजिये इस व्यंग्य कथा का जिसको सुना रहे हैं इस कथा के मुख्य पात्र हीरो जी।

नीचे के प्लेयर से सुनें.
(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)



यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंकों से डाऊनलोड कर लें (ऑडियो फ़ाइल तीन अलग-अलग फ़ॉरमेट में है, अपनी सुविधानुसार कोई एक फ़ॉरमेट चुनें)

VBR MP364Kbps MP3Ogg Vorbis


आज भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं, तो यहाँ देखें।

#First Story, : Mughalon Ne Saltanat Bakhsh Dee, Bhagvati Charan Varma/Hindi Audio Book/2008/07. Voice: Shobha Mahendru

फेसबुक-श्रोता यहाँ टिप्पणी करें
अन्य पाठक नीचे के लिंक से टिप्पणी करें-

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

7 श्रोताओं का कहना है :

सजीव सारथी का कहना है कि -

वाह शोभा जी इस बार आपने कमाल का व्यंग चुना है और अंदाज़ भी बहुत भाया.....बहुत अच्छे

अविनाश वाचस्पति का कहना है कि -

शोभा जी, आप तो कहानी पाठ में सिद्धहस्‍त (मुख) लगती हैं। स्‍वरों के उतार चढ़ाव, भावों के आरोह अवरोह को सटीक गति देते हुए मानस को भिगो जाते हैं। बधाई

शैलेश भारतवासी का कहना है कि -

यह कहानी बहुत प्यारी है। कहानी गुदगुदाती हैं। और आपने अपनी आवाज़ में भी वो असर रखा है। बहुत बढ़िया वाचन।

राज भाटिय़ा का कहना है कि -

शोभा जी आप ने तो कहानी मे अपनी आवाज से जान डाल दी
धन्यवाद

deepali का कहना है कि -

कहानी बहुत अच्छी लगी.ऐसा लगा जैसे हम आपके सामने बैठ कर आपसे कहानी सुन रहे है.

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन का कहना है कि -

शोभा जी,
बहुत खूब. आपके वाचन के अंदाज़ ने तो रंग जमा दिया.

लावण्यम्` ~ अन्तर्मन्` का कहना है कि -

बेहतरीन प्रस्तुति रही शोभा जी ~~

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

संग्रहालय

25 नई सुरांगिनियाँ

ओल्ड इज़ गोल्ड शृंखला

महफ़िल-ए-ग़ज़लः नई शृंखला की शुरूआत

भेंट-मुलाक़ात-Interviews

संडे स्पेशल

ताजा कहानी-पॉडकास्ट

ताज़ा पॉडकास्ट कवि सम्मेलन