Friday, September 19, 2008

ओ मुनिया मेरी गुड़िया...जरा संभल के चल...



दूसरे सत्र के बारहवें गीत का विश्वव्यापी उदघाटन आज.

आज जो गीत हम लेकर उपस्थित हैं वो अब तक के सभी गीतों से कुछ तेज़ रफ़्तार का है, दरअसल "पहला सुर" एल्बम में अपने सम्मोहन से सबको सम्मोहित करने वाले जे एम् सोरेन ने इस गीत के साथ दूसरे सत्र में पहली बार अपनी उपस्थिति दर्ज करायी है. सम्मोहन को सुनने के बाद एक फ़िल्म निर्देशक 'यश' ने युग्म से संपर्क किया, वो सोरेन से अपनी एक फ़िल्म का शीर्षक गीत बनवाना चाहते थे, शीर्षक था- "पापा अंकल". कुछ हद तक फ़िल्म की कहानी का भाव है गीत में.
आजकल इसके एक डेमो विडीयो पर काम जारी है. यश जी इस गीत को आवाज़ पर लाकर जानना चाहते हैं कि उनकी फ़िल्म के इस शीर्षक गीत में कितना दम है.गीतकार हैं सजीव सारथी और गीत को आवाज़ दी है ख़ुद जे एम् सोरेन ने, गीत पूरी टीम की उपस्थिति में कोच्ची के CAS स्टूडियो में रिकॉर्ड हुआ है, बेस गीटार पर है लिओन और मिक्सिंग का काम संभाला है रोबिन ने. तो प्रस्तुत है हमारे गुणी संगीत प्रेमी साथियों के मधुर कानों के लिए ये ताज़ातरीन गीत "ओ मुनिया"...अपनी राय हमें अवश्य बतायें.

गीत को सुनने के लिए नीचे के प्लेयर पर क्लिक करें -



J M Soren (sammohan fame from pahla sur) is back with his first entry in this new season. This is what he wants to say about the song -
"Hi folks, after a long time Sajeev has again put me in limelight. A good experience though, coz' for this song we were together. Believe me !! I had to postpone my leaves as I was going to Lucknow for my vacation. Man it was an experience. A small project nonetheless it was really a fun. Actually when Sajeev gave me this project i was happy as it was a different type of song for me. Generally i am into romantic. This was a dance number. It took me nearly a month to finish the minus track. Had to change it nearly 10 to 15 times.

Sometimes adding this sometimes deleting something. Actually composing never takes time but arrangement really eats up your HOURS. The dummy which i had made in was approved over the phone, but as i was finalising it , Sajeev could not approve it, even though i was sure. But when we mixed it in the studio before the " voice over " it turned out to be something different. To be more honest I really want to thank Sajeev for the final picture of the song. In fact the length was shorter. It wansn't spiced up but the incessant coaxing of Sajeev made me give the song a new dimension. Actually many of the other things we did in the CAC Studio were the ideas of Sajeev. Other things came out all by itself. Thanx to Leons for his walking BASS . We can't undermine the talent of Mr. Robin whose brains while mixing gives a song a new definition. I have tried to sing well---- actually this time i did not become PITCH-OUT. Hats of Soren -n- Sajeev."
Do let us know what is your opinion about the song.

To listen to the song please click on the player below -



Other Credits-

Lyrics --- Sajeev Sarathie
Singer --- J.M. Soren
Composer/ Arranger J.M.Soren
Rythm Guitarist. J.M.Soren
Bassist -- Leons
Sound Engineer -- Robin
Studio. -- CAC Digital Studio.

गीत के बोल ( lyrics )

ओ मुनिया मेरी गुडिया
ज़रा संभल के चल
ये दुनिया बड़ी ही शातिर है
तू भी ख़ुद को ज़रा बदल
ओ मुनिया

तू न जाने कदम कदम पर धोखे हैं हर राह में,
छल जाते है सपने अक्सर सपनों की इस चाह में,
काटों से अब बचके निकलना होगा तुझको नन्ही कली,
थाम के उंगली "पापा अंकल" की तू चलना भोली परी.
ओ मुनिया...

मोड़ हजारों आयेंगे जो सब्र तेरा आजमायेंगे,
ऐसे सितम भी होंगे जो दिल को दुख भी जायेंगे,
तूफानों से लड़ना होगा लेकर ये विश्वास तुझे,
'पापा अंकल" साथ हैं तेरे छूना है आकाश तुझे.
ओ मुनिया....

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंकों से डाऊनलोड कर लें (ऑडियो फ़ाइल तीन अलग-अलग फ़ॉरमेट में है, अपनी सुविधानुसार कोई एक फ़ॉरमेट चुनें)




VBR MP364Kbps MP3Ogg Vorbis


चित्र में सोरेन गीत को गाते हुए ( उपर ), CAS स्टूडियो में रोबिन और लिओन के साथ सजीव सारथी ( नीचे )

SONG # 12, SEASON # 02, "O MUNIYA" OPENED ON AWAAZ HIND YUGM ON 19/09/2008
Music @ Hind Yugm, Where music is a passion


ब्लॉग/वेबसाइट/ऑरकुट स्क्रैपबुक/माईस्पैस/फेसबुक में "राहतें सारी" का पोस्टर लगाकर नये कलाकारों को प्रोत्साहित कीजिए


फेसबुक-श्रोता यहाँ टिप्पणी करें
अन्य पाठक नीचे के लिंक से टिप्पणी करें-

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

36 श्रोताओं का कहना है :

संजय बेंगाणी का कहना है कि -

अभी मैं उपकरणों के अभाव में सुनने में असमर्थ हूँ, मगर गीत को पढ़ा है, बोल सुन्दर है तो गाया भी मधूर होगा.

बिटिया को प्यार.

सजीव सारथी का कहना है कि -

thank u soren for put it in this way, it was really a great experience for me इसे एक इत्तेफाक ही समझो अगले हफ्ते २५ तारिख को मेरी बिटिया का जन्मदिन है, मेरी तरफ़ से ये गीत उसको भेंट, शुक्रिया एक बार फ़िर दोस्त

shivani का कहना है कि -

ओ मुनिया .....वाह कमाल है...मुझे तो गीत, गायन, संगीत सभी कुछ पसंद आया ....सजीव जी आपकी कलम चुराने का इरादा रखती हूँ ...बहुत खूब नसीहत दी है मुनिया को.....सोरेन जी आपका सम्मोहन में भी मैंने कहा था की आपने सम्मोहित कर दिया है और अब तो आपने गज़ब की क्षमता दिखाई है लीओन जी और रोबिन जी आपका सहोग भी काबिले तारीफ है ...आप सबकी मेहनत बहुत रंग लाई है .....गीत में उर्जा नज़र आती है उच्चारण भी स्पष्ट है ....प्रस्तुति शानदार लगी ....आप सबने मिल कर सजीव जी की बिटिया को उनके जन्मदिन पर अच्छा गीत समर्पित किया है.....मुनिया की पूरी टीम को बहुत बहुत धन्यवाद और भविष्य के लिए शुभकामनायें......

KRISHNA RAJ KUMAR का कहना है कि -

Nice song!!! Excellent singing!!!Super lyrics sajeev ji!!!

About the background music....the music starts and ends abruptly...am not able to understand the vocoder portion ..what the singer is singing in that portion...
Overall a very nice song!!!

Manuj Mehta का कहना है कि -

Hello Sajeev ji
wonderful composition
Lovely music, though its fast a little different from my taste but the work has been done brilliantly. Soren has made this an energetic product. very well written with a nice thought. pure feelings with full of meaning and emotions.
good work from all of you.

regards
Manuj Mehta

nesh का कहना है कि -

nice work ,best of luck

masijeevi का कहना है कि -

बहुत प्यारा गीत सुनाया आपने !धन्यवाद!

Biswajeet का कहना है कि -

wah wah .. maza aagaya... hindy yugm is rocking...

Biswajeet का कहना है कि -

Ek baat kahna bhul gaya feel ko aur improve kiya jaa sakta tha.. however, bahut achha hai..

Biswajeet का कहना है कि -

Sorenji, aur ek comment hai mere taraf se technically ending ko aur improve kiya jaa sakta tha .. lakin phir bhi achha hai...

anitakumar का कहना है कि -

बहुत ही मधुर गीत - धन्यवाद

deepali का कहना है कि -

मुझे गीत के बोल बहुत पसंद आए पर धुन इस गीत के भाव से कुछ तेज़ लगी.

शैलेश भारतवासी का कहना है कि -

इस गीत में मुझे सबसे अधिक 'पापा अंकल' प्रयोग पसंद आता है। संगीत में ताज़गी है। सोरेन पहले से बेहतर हैं, हर तरह से वो चाहे साफ्टवेयर का पक्ष हो या गायकी का। हाँ, यह ज़रूर महसूस होता है कि अंत जल्दी हो गया। अब शायद यह इस कारण भी हो कि गीत इतना बढ़िया है कि सुनने वाला खो जाता है, कब खत्म हुआ, पता ही नहीं चलता।

Anonymous का कहना है कि -

Thats an excellent song Sajeev ji, very well sung too. Though bit faster, I like it. Keep it up!!!!!!!!!

- devender ror

Anonymous का कहना है कि -

really nice....
-kabir

Anonymous का कहना है कि -

its so nice song sanjeev ji.. really lovely one

from kaplesh

Anonymous का कहना है कि -

sajiv ji,bilkul sajiv gana,jo darsata aapka pyar apki phool si gudiya ke liye,deron aashirwad hamari taraf se.

jasvir

Anonymous का कहना है कि -

t,s great....your verse is great too sajeev......cong......

thanks......

gita pandit

Anonymous का कहना है कि -

leepika ka kahna hai

namashkar sanjeev jee,bahut hi aacha hai.
god bless u all

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन का कहना है कि -

गाना बहुत ही सुन्दर बना है. मेरे एक और प्रिय गीत "ओ मेरी मुन्नी" की याद दिलाता है जो मेरी बेटी को बहुत पसंद था चार साल की उम्र में.

सजीव, सोरेन और सभी सहयोगिओं को इतने अच्छे गीत पर बहुत बधाई और शुभकामनाएं!

भूपेन्द्र राघव । Bhupendra Raghav का कहना है कि -

सभी की मेहनत का मीठा फल दिख रहा हैं गीत में
हम तो सुनकर खो ही गये इस मधुर मधुर संगीत में

सोरेन लिऑन रोबिन का जादू, गजब गीत सजीव के
बेहतरीन प्रयोग दिखाते, अंतरजाल तरकीब के

* muniyaa ko agrim shubhakaamnaaye..

asha का कहना है कि -

sajeev ji gana to bahut accha bana hai....
muniya ko hamari shubh kamnaye..

janmejay का कहना है कि -

sarv pratham to sanjeev ji ko badhai avam unki bitiya ke liye dher sara subhsheesh!
bara achha uphar chuna apne apni bitiya ke liye,yah geet apni baat bhi kah jata hai,aur jhumau dhun ki wajah se bachchon ko bhi akarshit karne me saksham hai.

geet puri tarah commercial aur trendy hai,jo shayad buri baat nahi hai!is geet ke ek commercial project se jure hone ki wajah se iski awashyakta bhi thi,anytha kuchh aur behtar kiya ja sakta tha.yash ji ko unke project ke liye shubh kamnayen!

geet ki recording studio me hui hai,yah geet sun kar hi saaf pata chal raha hai.takneeki taur par ek sudridh rachna ke liye soren ji ko badhai!
dhun achhi hai,trendi hai,bal-geet hone ki wajah se iska tej raftar aur instrumental hona jaroori bhi tha.haan,agar commercial chinta kum karte to kuchh behtar sangeet ho pata,shayad theame ke lihaj se music kuchh jyada fast ho gayi.

ek sujhav doonga,agar geet ke beech-beech me bachchi ki awaz ya hansi ya gungunahat aadi ka prayog karen,to geet aur bhi bhavpoorn ban payega aur iski gati me bhi thora thahrav ayega,taki geet ko kanon se hokar dil tak pahunchne ka waqt ml sake.
darasal 'karnpriy' aur 'hriday-sparshi' in dono me thora farq hai,yah geet karn-priy to beshak hai,hriday-sparshi ki shreni me lane ke liye thori mehnat aur karni paregi is geet par.

geet ke bol beshak bare achhe hain,khas taur par jab ek kahani ho juri hui,to geet likhne me bahut sari baton ka dhyan rakhna parta hai,aur is is geet ke bolon me itni gahrai nazar ati hai.sanjiv ji ko is safal prayas ke liye badhai.waise,shayad yah geet puri kahani ke sath,anytha kum se is geet ke video ke sath bhi agar dekhi jaye,to jyada prabhavkari lagega!
kul mila kar yah ek sarahneey prayas raha.'
awaz' ki team dwara POPular music ko lekar ane ka bhi main swagat karta hoon!
asha hai,'awaz' par nirantar vividhta aur gunwatta dekhne-sun'ne ko milti rahegi!
dheron badhai avam shubh kamnayen!

dhanyawaad!

-Janmejay

Manish Kumar का कहना है कि -

गीत का ध्वनि संयोजन बेहतरीन लगा। एक जगह पर रिकार्डिंग होने का असर झलकता है।

Anonymous का कहना है कि -

wonderful
commonly to es type ke songs halke ya kah sakte
ho low range ke bante hain but its deferents from others .....i loved it :)

usha

विश्व दीपक ’तन्हा’ का कहना है कि -

बेहतरीन गीत।
संगीत-संयोजन और गायन भी उम्दा है।
सजीव जी , सोरेन भाई और पूरी टीम को ढेरों बधाईयाँ।

Anonymous का कहना है कि -

पहले तो बिटिया को जन्मदिन की बधाई.
यह मुनिया हम सब के दिलों में , परिवार में बसती है,कहीं ना कहीं. और ज़माने के छल कपट और सितम को झेलने का जो दर्द हमने सहा है, वह इस निरीह और मासूम गुडिया के भाग में ना आये इसका अंदेशा ही कितना पीडादायक है. मेरी भी एक गुडिया है,मुनिया है और मन के बेहद भीतर उसका एक कोमल सा प्रेझेंस है, वजूद है. तभी संजीव जी नें लिखे एक एक शब्द का अनुभव हो रहा है. साधुवाद.

गीत के संगीत पक्ष में गायक के तलफ़्फ़ुज़ और voice throw, बेहद प्रभावशाली है , सुमधुर है, समीर के झोंकों की तरह निरंतरता लिये हुए है. गाने की लय ज़रूर थोडी अधिक है, उसके विषयवस्तु के गंभीरता के अनुपात में. गिटार के बेस के पीस कहीं झकझोरते है, कहीं डराते है.

संक्षेप में , ऐसी मधुर प्रस्तुती कि सुनने के बाद यह टिप्पणी शुरु की तब से अब तक ज़ेहेन में बस रही है. यही कमाल है, वर्ना आजकल के संगीत में ना मेलोडी , ना सिम्फ़नी, ना पूरा Rock ना कोई कविता.

शुक्रिया यह सुनाने का, और अब मुझे अपनी मुनिया को भी सुनाना है.-Dilip
----------------------

madan का कहना है कि -

O Muniya song is written & composed very well.I wish all the best to Soren

(Madan Mohan Gupta)

vivek sharma का कहना है कि -

Hi...Very distinguished songs amongs all songs here...i like this...keep it up friend..

doman का कहना है कि -

wonderful composition
Lovely music,I love it................ ओ मुनिया...........

Amar का कहना है कि -

Soren i liked d song very much .
Ur voice awesome.
All the best.

Ady का कहना है कि -

HI!!
O muniya...
LOVELY Song.

amar का कहना है कि -

Wonderfull song.
well composed,well sung.

Ravi का कहना है कि -

Wow , what a song!
nice music n nice voice.
good work done.

suman का कहना है कि -

Lovely song.
I liked the song very much and composition is very nice.

Sanjay का कहना है कि -

Good work done by soren.
all the best soren.
Thats a wonderful song composed and sung by soren.

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

संग्रहालय

25 नई सुरांगिनियाँ

ओल्ड इज़ गोल्ड शृंखला

महफ़िल-ए-ग़ज़लः नई शृंखला की शुरूआत

भेंट-मुलाक़ात-Interviews

संडे स्पेशल

ताजा कहानी-पॉडकास्ट

ताज़ा पॉडकास्ट कवि सम्मेलन