Saturday, December 27, 2008

सुनो कहानी: प्रेमचंद की 'मन्त्र'



उपन्यास सम्राट मुंशी प्रेमचंद की प्रसिद्ध कहानी 'मन्त्र'

'सुनो कहानी' इस स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको सुनवा रहे हैं उपन्यास सम्राट मुंशी प्रेमचंद की प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछले सप्ताह आपने अनुराग शर्मा की आवाज़ में प्रेमचंद की रचना ''दूसरी शादी'' का पॉडकास्ट सुना था। आवाज़ की ओर से आज हम लेकर आये हैं प्रेमचंद की अमर कहानी "मन्त्र", जिसको स्वर दिया है लन्दन निवासी कवयित्री शन्नो अग्रवाल ने। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं। कहानी का कुल प्रसारण समय है: 31 मिनट और 38 सेकंड।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं हमसे संपर्क करें। अधिक जानकारी के लिए कृपया यहाँ देखें।

कल हम आपके लिए लेकर आ रहे हैं दिसम्बर महीने का पॉडकास्ट कवि सम्मेलन, इसी जगह, इसी समय - सुनना न भूलें!
मैं एक निर्धन अध्यापक हूँ...मेरे जीवन मैं ऐसा क्या ख़ास है जो मैं किसी से कहूं
~ मुंशी प्रेमचंद (१८३१-१९३६)

हर शनिवार को आवाज़ पर सुनिए प्रेमचंद की एक नयी कहानी

 बूढ़े मॉँ-बाप के जीवन का यही एक आधार था। इसी का मुँह देख कर जीते थे। इस दीपक के बुझते ही जीवन की अँधेरी रात भॉँय-भॉँय करने लगी। बुढ़ापे की विशाल ममता टूटे हुए हृदय से निकल कर अंधकार आर्त्त-स्वर से रोने लगी।
(प्रेमचंद की "मन्त्र" से एक अंश)

नीचे के प्लेयर से सुनें.
(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)


यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंकों से डाऊनलोड कर लें (ऑडियो फ़ाइल तीन अलग-अलग फ़ॉरमेट में है, अपनी सुविधानुसार कोई एक फ़ॉरमेट चुनें)
VBR MP364Kbps MP3Ogg Vorbis

आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं, तो यहाँ देखें।

#Nineteenth Story, Mantra: Munsi Premchand/Hindi Audio Book/2008/18. Voice: Shanno Aggarwal

फेसबुक-श्रोता यहाँ टिप्पणी करें
अन्य पाठक नीचे के लिंक से टिप्पणी करें-

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

5 श्रोताओं का कहना है :

neelam का कहना है कि -

premchand ka poora katha sankalan padne ka saubhagya hume bhi mila hai ,yah kahaani aaj bhi hume yaad hai,marmsparshi kahaani hai .aawaj to phir se usi desh kaal me pahunchaa deti hai

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन का कहना है कि -

शन्नो जी,
मानवता के बहुत से विरोधाभासी पहलुओं का जीवंत वर्णन करने वाली मुंशी प्रेमचंद की इस बेहतरीन कहानी के सभी भावों को आपकी आवाज़ ने सामने लाकर रख दिया, धन्यवाद!

Gagandeep Singh Vaid का कहना है कि -

Thanks a lot!!!!!! God bless! :)

Rahul Mishra का कहना है कि -

Thanks a lot of

Ram Mani Tiwari का कहना है कि -

Thanks sanni ji mujhe to dealy ek story sunne ki aadat hi pad gai h

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

संग्रहालय

25 नई सुरांगिनियाँ

ओल्ड इज़ गोल्ड शृंखला

महफ़िल-ए-ग़ज़लः नई शृंखला की शुरूआत

भेंट-मुलाक़ात-Interviews

संडे स्पेशल

ताजा कहानी-पॉडकास्ट

ताज़ा पॉडकास्ट कवि सम्मेलन