Tuesday, January 20, 2009

दादी जी की चिड़िया- हरिवंश राय बच्चन



आपने हरिवंश राय बच्चन की ६वीं पुण्य तिथि पर हमारी दो प्रस्तुतियाँ पढ़ी-सुनीं। एक प्रविष्टि में जहाँ अमिताभ बच्चन की आवाज़ में बच्चन जी की कविताएँ थीं, वहीं एक पोस्ट में डॉ॰ प्रीति प्रकाश प्रजापति द्वारा कविता 'क्या भुलूँ क्या याद करूँ'। हरिवंश राय बच्चन ने बाल-साहित्य पर भी उल्लेखनीय कार्य किया था। नीलम मिश्रा अपनी आवाज़ में उन्हीं की एक बाल कविता लाई हैं, आप सब के लिए, सुनें-





फेसबुक-श्रोता यहाँ टिप्पणी करें
अन्य पाठक नीचे के लिंक से टिप्पणी करें-

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

3 श्रोताओं का कहना है :

राज भाटिय़ा का कहना है कि -

बहुत सुंदर लगी दादी जी की चिडिया.
धन्यवाद

सिद्धार्थ शंकर त्रिपाठी का कहना है कि -

सुन्दर प्रस्तुति। धन्यवाद।

सजीव सारथी का कहना है कि -

जब बात बच्चों की आती है तो आप और मीनू जी का अंदाज़ अलग ही है....सबसे अच्छी बात आपकी रिकॉर्डिंग बहुत साफ़ आती है ....नीलम जी आभार

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

संग्रहालय

25 नई सुरांगिनियाँ

ओल्ड इज़ गोल्ड शृंखला

महफ़िल-ए-ग़ज़लः नई शृंखला की शुरूआत

भेंट-मुलाक़ात-Interviews

संडे स्पेशल

ताजा कहानी-पॉडकास्ट

ताज़ा पॉडकास्ट कवि सम्मेलन