Sunday, November 29, 2009

सर्दी की धूप में फुरसत का दिन और कविताओं की चुस्की



एक वैश्विक कवि सम्मेलन

Rashmi Prabha
रश्मि प्रभा
Khushboo
खुश्बू
पूरे उत्तर भारत में सर्दी अपनी तमाम विविधताओं के साथ उतर चुकी है। लगातार धूप की तपिश और बरसाती मौसम की उमस से व्याकुल लोगों के लिए सुख और संतोष के दिन। और वैसे में भी रविवार का दिन। छुट्टी का दिन। फुरसत का दिन। और चूँकि माह का आखिरी रविवार है तो उम्मीद की जा सकती है कि वेतन भी मिल गया होगा। हालाँकि महँगाई अधिक है, फिर भी हम यही कहेंगे कि इस खास रविवार के लिए चाय के प्रबंध कर लेने भर का पैसा ज़रूर बचाये रखें, क्योंकि रश्मि प्रभा आज लेकर आती हैं, कवि सम्म्मेलन का विशेष कार्यक्रम। हिन्द-युग्म तो एक वैश्विक मंच है, वैसे केवल उत्तर भारतीय श्रोताओं की चिंता करना बेमानी होगी। हम मानते हैं कि उत्तर भारतीयों का हर मौसम की क्रूरता और अपनत्व से जितना सामीप्य है, उतना शायद दुनिया के दूसरे भूभागीयों का नहीं। वैसे हिन्द-युग्म के श्रोता दुनिया भर के 150 से भी अधिक देशों फैले हैं, तो यदि हम यह भी उम्मीद करें कि कहीं-कहीं भीषण गर्मी होगी, कहीं तूफान होगा तो भी यह तो हमारा विश्वास है कि रश्मि प्रभा के संचालन से उन्हें बहुत राहत मिलेगी।

अब बातों के संसार से बाहर निकल, चलते हैं वागर्थों की दुनिया में-



प्रतिभागी कवि- माधुरीलता पाण्डेय, शरद तैलंग, किशोर कुमार खोरेन्द्र, सुषमा श्रीवास्तव, रिज़वाना कश्यप 'शमा'।


संचालन- रश्मि प्रभा

तकनीक- खुश्बू


यदि आप इसे सुविधानुसार सुनना चाहते हैं तो कृपया नीचे के लिंकों से डाउनलोड करें-
WMAMP3




आप भी इस कवि सम्मेलन का हिस्सा बनें

दिसम्बर अंक से हम कवि सम्मेलन का नया रूप लेकर हाज़िर होंगे। हिन्द-युग्म फरवरी 2007 से एक विशेष विषय पर कविता-लेखन 'काव्य-पल्लवन' का आयोजन करता है। हम फरवरी 2007 में हो चुके काव्य-पल्लवन का विषय दिसम्बर 2009 के पॉडकास्ट कवि सम्मेलन के लिए चुन रहे हैं। विषय है- 'आधुनिक विकास और गाँव'। यह काव्य-पल्लवन यहाँ पढ़ें। आप भी इसी विषय पर अपनी कविता लिखें और रिकॉर्ड करें। रश्मि प्रभा के साथ यदि आप भी अतिथि संचालक होना चाहते हैं तो हमें लिखें।

1॰ अपनी साफ आवाज़ में अपनी कविता/कविताएँ रिकॉर्ड करके भेजें।
2॰ जिस कविता की रिकॉर्डिंग आप भेज रहे हैं, उसे लिखित रूप में भी भेजें।
3॰ अधिकतम 10 वाक्यों का अपना परिचय भेजें, जिसमें पेशा, स्थान, अभिरूचियाँ ज़रूर अंकित करें।
4॰ अपना फोन नं॰ भी भेजें ताकि आवश्यकता पड़ने पर हम तुरंत संपर्क कर सकें।
5॰ कवितायें भेजते समय कृपया ध्यान रखें कि वे 128 kbps स्टीरेओ mp3 फॉर्मेट में हों और पृष्ठभूमि में कोई संगीत न हो।
6॰ उपर्युक्त सामग्री भेजने के लिए ईमेल पता- podcast.hindyugm@gmail.com
7. दिसम्बर 2009 अंक के लिए कविता की रिकॉर्डिंग भेजने की आखिरी तिथि- 20 दिसम्बर 2009
8. दिसम्बर 2009 अंक का पॉडकास्ट सम्मेलन रविवार, 27 दिसम्बर 2009 को प्रसारित होगा।


रिकॉर्डिंग करना कोई बहुत मुश्किल काम नहीं है। हमारे ऑनलाइन ट्यूटोरियल की मदद से आप सहज ही रिकॉर्डिंग कर सकेंगे। अधिक जानकारी के लिए कृपया यहाँ देखें।

# Podcast Kavi Sammelan. Part 17. Month: November 2009.
कॉपीराइट सूचना: हिंद-युग्म और उसके सभी सह-संस्थानों पर प्रकाशित और प्रसारित रचनाओं, सामग्रियों पर रचनाकार और हिन्द-युग्म का सर्वाधिकार सुरक्षित है।

फेसबुक-श्रोता यहाँ टिप्पणी करें
अन्य पाठक नीचे के लिंक से टिप्पणी करें-

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

5 श्रोताओं का कहना है :

सजीव सारथी का कहना है कि -

इस बार कवियों की संख्या बहुत कम रही....हमारे कवी मित्र सब कहाँ व्यस्त हैं भाई ?

शैलेश भारतवासी का कहना है कि -

इस बार का कवि-सम्मेलन छोटा रहा लेकिन बहुत सधा रहा। बहुत अच्छा लगा सुनकर।

kishor kumar khorendra का कहना है कि -

kavitaaye sabhi achchhi lagi
sanchalan sadha huva ..har bar ki tarah laga
hindi yugm ko is tarah ke aayojan ke liye
pun: dhnuyvaad

kishor

निर्मला कपिला का कहना है कि -

अच्छा लगा । आज सुन पाई बहुत बहुत बधाई

ρяєєтι का कहना है कि -

Nice One...! chota per behtarin kavi samelan...!

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

संग्रहालय

25 नई सुरांगिनियाँ

ओल्ड इज़ गोल्ड शृंखला

महफ़िल-ए-ग़ज़लः नई शृंखला की शुरूआत

भेंट-मुलाक़ात-Interviews

संडे स्पेशल

ताजा कहानी-पॉडकास्ट

ताज़ा पॉडकास्ट कवि सम्मेलन