Monday, May 12, 2008

मातृ दिवस पर गौरव सोलंकी और विपुल शुक्ला का काव्य-पाठ



डैलास, अमेरिका के हिन्दी एफ॰एम॰ चैनल रेडियो सलाम नमस्ते के कार्यक्रम में 11 मई 2008 की रात्रि 9 बजे (भारतीय समयानुसार 12 मई 2008 की सुबह 7:30 बजे) मातृ दिवस पर आयोजित 'कवितांजलि' के विशेष अंक में हिन्द-युग्म की ओर से गौरव सोलंकी और विपुल शुक्ला ने काव्यपाठ किया। गौरव सोलंकी और विपुल शुक्ला के प्रोत्साहन के लिए हिन्द-युग्म की स्थाई पाठिका रचना श्रीवास्तव ने फोन करके दोनों को बधाइयाँ दी, उसे भी हमने रिकार्ड किया है, लेकिन वो ठीक से रिकार्ड नहीं हो पाया है। अमेरिका के ही पेशे से कवि हृदयी डॉक्टर कमल किशोर ने भी अपने काव्यपाठ के बाद गौरव सोलंकी की कविता की सराहना की। इस कार्यक्रम का संचालन श्री आदित्य प्रकाश करते हैं।

नीचे के प्लेयर से सुनें.

(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)



यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंकों से डाऊनलोड कर लें (ऑडियो फ़ाइल तीन अलग-अलग फ़ॉरमेट में है, अपनी सुविधानुसार कोई एक फ़ॉरमेट चुनें)
VBR MP3 64Kbps MP3 Ogg Vorbis


Gaurav Solnaki's & Vipul Shukla's Kavyapaath

फेसबुक-श्रोता यहाँ टिप्पणी करें
अन्य पाठक नीचे के लिंक से टिप्पणी करें-

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

10 श्रोताओं का कहना है :

tanha kavi का कहना है कि -

गौरव और विपुल दोनों को बहुत-बहुत बधाईयाँ।

-विश्व दीपक ’तन्हा’

शोभा का कहना है कि -

गौरव और विपुल
दोनो का काव्य पाठ सुना। कविताएँ तो पहले ही पढ़ी हुई थी। आपकी आवाज़ में सुनकार और आनन्द आया। हिन्द-युग्म का नाम यूँ ही रौशन होता रहे यही कामना है।

pooja anil का कहना है कि -

गौरव जी और विपुल जी की कविताएँ पढ़ तो रखी थी पर आज उन्ही की आवाज़ में सुनकर बड़ा अच्छा लगा. आप दोनों को रेडियो सलाम नमस्ते पर कविताएँ कहने का मौका मिला उसके लिए बहुत बहुत बधाई , हमारा भी सौभाग्य है कि हम उसे हिंद युग्म के जरिये सुन सके . आप और तरक्की करें ,ऐसी शुभकामनाओं के साथ

^^पूजा अनिल

अवनीश एस तिवारी का कहना है कि -

बहुत सुंदर |

अवनीश तिवारी

mahashakti का कहना है कि -

कवि द्वय को बधाई

Bhupendra Raghav का कहना है कि -

दोनो कवियों का बहुत बहुत सुन्दर काव्य पाठ, अनेकानेक बधाइयाँ..

Seema Sachdev का कहना है कि -

गौरव जी ,विपुल जी आप दोनों को हार्दिक बधाई , गौरव जी आपकी कविता पहले पढी थी सुन कर बहुत अच्छा लगा....सीमा सचदेव

raajiv का कहना है कि -

vipul sir cong'ion.................

raajiv का कहना है कि -

vipul sir cong'tion,,,,,,,,....................//////////

RAHUL RAJ का कहना है कि -

good work vipul , keep going like this always ...............

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

संग्रहालय

25 नई सुरांगिनियाँ

ओल्ड इज़ गोल्ड शृंखला

महफ़िल-ए-ग़ज़लः नई शृंखला की शुरूआत

भेंट-मुलाक़ात-Interviews

संडे स्पेशल

ताजा कहानी-पॉडकास्ट

ताज़ा पॉडकास्ट कवि सम्मेलन