Tuesday, May 6, 2008

हरिहर झा का काव्य-पाठ (Kavya-Paath of Harihar Jha)



होली के अवसर पर कैनबरा रेडियो (कैनबरा, ऑस्ट्रेलिया) पर हिन्द-युग्म के कवि हरिहर झा का काव्य-पाठ प्रसारित हुआ, जिसकी रिकॉर्डिंग हमें प्राप्त हो गई है। आप भी सुनें और बतायें कैसा लगा?

नीचे ले प्लेयर से सुनें.

(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)



यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो यहाँ से डाऊनलोड कर लें

Kavya-path of Harihar Jha on Radio Canberra

फेसबुक-श्रोता यहाँ टिप्पणी करें
अन्य पाठक नीचे के लिंक से टिप्पणी करें-

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

6 श्रोताओं का कहना है :

Anonymous का कहना है कि -

टोटल चुतियापा है, और कुछ भी नहीं. समय खराब हुआ हमरा और इस रेडियो की साख गिरी हमारी नजर में.

-अविनाश दास रिपोर्टिंग-मोहल्ला से.

Harihar का कहना है कि -

और anonymous जी, इसके बाद भी आपने
टीप्पणी के लिये अलग से समय निकाला
इसके लिये धन्यवाद!

Harihar का कहना है कि -

Anonymous जी ! आप चाहें तो पहले दोनो
कवितायें ठीक से पढ़ लीजिये
मदिरा ढ़लने पर
http://www.hindinest.com/kavita/2005/101.htm

व्यंग्य कविता "अंधेरा"
http://hariharjhahindi.wordpress.com/2007/02/14/%e0%a4%85%e0%a4%82%e0%a4%a7%e0%a5%87%e0%a4%b0%e0%a4%be/


पर आपकी भाषा हमें कुछ और ही बता रही है।

अवनीश एस तिवारी का कहना है कि -

बहुत अच्छा हरिहर जी |

क्या होगा ? क्या होगा ?

बहुत अच्छा लगा |
Anonymous जी, कविता आदि आप के लिए नही है |

किसी दूसरे जगह जाए | भगवान् आपका भला करे |


अवनीश तिवारी

pooja anil का कहना है कि -

हरिहर जी ,
हमें तो बहुत भाया आपकी आवाज़ में आपकी कविताएँ सुनना , मदिरा ढलने पर वाली कविता विशेष रूप से अच्छी लगी , बधाई

^^पूजा अनिल

KUMAR DHRUV का कहना है कि -

Watch my poems related to current affairs and politics and also Hasya.Search me as "KUMAR DHRUV'S POEM".You will find me in you tube with my 4 Nos Poem's Video.My E Mail ID is : natpubindia@rediffmail.com and cell no is : 9009990322. I am 57 years old,an ex emlpoyee of State Bank,interested to take part in Kavi sammelan.

https://youtu.be/l3rDOisccGU

https://youtu.be/PM9re9eS1gM

https://youtu.be/3kJ_Kbsafhg

https://youtu.be/V7eSnamqU0s

आप क्या कहना चाहेंगे? (post your comment)

संग्रहालय

25 नई सुरांगिनियाँ

ओल्ड इज़ गोल्ड शृंखला

महफ़िल-ए-ग़ज़लः नई शृंखला की शुरूआत

भेंट-मुलाक़ात-Interviews

संडे स्पेशल

ताजा कहानी-पॉडकास्ट

ताज़ा पॉडकास्ट कवि सम्मेलन